Business is booming.

वृषभ संक्रांति 2018, पुण्य काल का शुभ मुहूर्त और दान करने का सही समय

वृषभ संक्रांति 2018 महा पुण्यकाल का शुभ मुहूर्त, वृषभ संक्रांति स्नान का शुभ समय, वृषभ संक्रांति क्यों मनाई जाती है, संक्रांति का महत्व, Vrushabha Sankranti, Brusha Sankranti 2018, 2018 Vrishabha Sankranti Date, Vrishabha Sankranti 2018 Puja timing, वृषभ संक्रांति पुण्य काल का समय, Sankramanam Date, Auspicious Time for Vrishabha Sankranti

0 334

Vrishabha Sankranti 2018: हिन्दू पंचांग के अनुसार जब भी सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है तो वह संक्रांति कहलाती है। वृषभ संक्रांति भी उन्ही में से एक है जो मुख्य रूप से मई या जून के महीने में मनाई जाती है। यह हिन्दू कैलेंडर का दूसरा महीना होता है। इस दिन सूर्य मेष राशि से वृषभ राशि में प्रवेश करता है। वैसे तो सालभर में आने वाली सभी संक्रांतियां दान-पुण्य के लिए शुभ मानी जाती है, परंतु वृषभ संक्रांति पर गौदान का बड़ा खास महत्व होता है।

संक्रांति के दिन गरीबों, ब्राह्मणों और जरुरतमंदों को दान आदि करना बहुत लाभकारी माना जाता है। इसलिए बहुत से लोग इस दिन जरुरत की वस्तुएं और खान पान की चीजों का दान करते है। संक्रांति मुहूर्त के पहले आने वाली 16 घड़ियों को बहुत शुभ माना जाता है। इस समय में दान, मंत्रोच्चारण, पितृ तर्पण और शांति पूजा करवाना भी बहुत अच्छा माना जाता है। इसके अलावा इस समय में गंगा आदि पवित्र नदियों में स्नान करना भी बहुत शुभ माना जाता है।

वृषभ संक्रांति की परंपराएं :-

हिन्दू धर्म के अनुसार वृषभ संक्रांति के दिन गौदान का बहुत खास महत्व होता है। इसलिए बहुत से लोग इस दिन ब्राह्मणों को गौ दान करते है। इसके अलावा इस संक्रांति में उपवास का भी बहुत खास महत्व होता है। जिसमे प्रातःकाल सूर्योदय से पूर्व स्नान करके भगवान् शिव का पूजन किया जाता है। जिसमे भगवान शिव के रिषभरूद्र स्वरुप को पूजा जाता है। वृषभ संक्रांति में व्रत रखने वाले व्यक्ति को रात्रि में जमीन पर सोना होता है।

Auspicious time for Vrishabha Sankranti 2018 :

वृषभ संक्रांति 2018

2018 में वृषभ संक्रांति 15th मई 2018, मंगलवार के दिन मनाई जाएगी।

वृषभ संक्रांति पुण्य काल का शुभ मुहूर्त

वृषभ संक्रांति पुण्य काल मुहूर्त = 05:34 से 12:17 तक।
मुहूर्त की अवधि = 6 घंटा 43 मिनट

संक्रांति काल प्रातः 05:18 मिनट पर होगा।

महापुण्य काल का शुभ मुहूर्त = 05:34 से 07:48 तक।
मुहूर्त की अवधि = 2 घंटा 14 मिनट