Business is booming.

पूर्णिमा जुलाई 2018, पूर्णिमा की तारीख

0 4,754

Ashada Purnima July 2018 : पूर्णिमा हिंदी कैलेंडर के महीने का 30 वां और अंतिम दिन होता है। जिसमे चंद्रमा पूरी तरह से दृश्य हो जाता है। अमावस्या के पश्चात् शुक्ल पक्ष प्रारंभ होता है जिसका समापन पूर्णिमा के दिन होता है। पूर्णिमा के पश्चात् कृष्ण पक्ष का प्रारंभ होता है जिसमें चंद्रमा धीरे-धीरे अपने आकार से छोटा होने लगता है और जब वह पूरी तरह से गायब हो जाता है तो उस दिन को अमावस्या कहा जाता है और उसके पश्चात् पुनः यही चक्र प्रारंभ हो जाता है।

इसके अलावा भी आषाढ़ पूर्णिमा का खास महत्व होता है क्योंकि इसी पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा मनाई जाती है साथ ही इस दिन गोपद्म व्रत भी रखा जाता है। इस व्रत में भगवान् विष्णु का पूजन किया जाता है।

पूर्णिमा जुलाई 2018

Guru Purnima 2018 : हिन्दुओं के पूर्णिमांत पंचांग के अनुसार हर महीने का नाम पूर्णिमा तिथि को चंद्रमा जिस नक्षत्र में होता है उसी के अनुसार रखा गया है। माना जाता है आषाढ़ महीने की पूर्णिमा को चन्द्रमा के पूर्वाषाढ़ और उत्तराषाढ़ नक्षत्र में होता है। और जब आषाढ़ महीने में पूर्णिमा तिथि को चंद्रमा उत्तराषाढ़ नक्षत्र में रहे तो वो पूर्णिमा तिथि बहुत ही शुभ और सौभाग्यशाली मानी जाती है।

आषाढ़ पूर्णिमा (Ashada Purnima) तिथि और समय :

जुलाई पूर्णिमा 2018 – 27 जुलाई 2018, शुक्रवार

पूर्णिमा तिथि का आरंभ – 23:16 बजे (26 जुलाई 2018)
आषाढ़ पूर्णिमा समाप्त – 01:50 बजे (28 जुलाई 2018)

जुलाई में पूर्णिमा तिथि का महत्व :

July Purnima : आषाढ़ महीने (जुलाई पूर्णिमा) की पूर्णमासी को ही गुरु पूर्णिमा मनाई जाती है। जिसे सभी क्षेत्रों में बड़ी श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। इस दिन बड़े बड़े संस्थानों, विद्यालयों आदि में हिन्दू धर्म के महान गुरुओं का पूजन किया जाता है। और अपने गुरुओं को धन्यवाद दिया जाता है की उन्होंने मनुष्य को इस काबिल बनाया की वे सही और गलत में फर्क कर सकें, अच्छे और बुरे को पहचान सकें।

आषाढ़ माह की पूर्णिमा तिथि को गोपद्म व्रत भी रखा जाता है जिसमे भगवान् विष्णु का पूजन किया जाता है। माना जाता है इस व्रत को रखने से परिवार में सभी सुख आते है।

जुलाई की पूर्णिमा को 2018 का दूसरा और सबसे लंबा चंद्रग्रहण :

आषाढ़ के महीने यानी जुलाई की पूर्णिमा को साल का दूसरा चंद्र ग्रहण लगने वाला है। जो इस साल का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण होगा, इसकी अवधि कुल 03 घंटा 55 मिनट की है। यह चंद्र ग्रहण पुरे भारत में अच्छे से दिखाई देगा और विश्व के अन्य देशों दिखाई देगा। इसलिए इसका सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव देश वासियों पर भी पड़ेगा। चंद्र ग्रहण का समय, सूतक काल, और राशियों पर इसके प्रभाव के बारे में जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाएं।

क्लिक करें : चंद्र ग्रहण जुलाई 2018