Business is booming.

करवाचौथ 2018 कब है? करवाचौथ चाँद निकलने का समय

0 719

करवाचौथ हर वर्ष कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। यह दिन भी किसी त्यौहार से कम नहीं होता है। इस दिन हर जगह चहल पहल होती है, साथ ही इसकी तैयारियां भी महिलाएं कई दिन पहले ही शुरू कर देती हैं। करवाचौथ के दिन महिलाएं पूरा दिन अपने पति की लम्बी उम्र के लिए निर्जला उपवास रखती है। और रात को चाँद निकलने के बाद उसे अर्ध्य देकर अपने व्रत को खोलती है।

महिलाएं जिस तरह हर त्यौहार को मनाने के लिए उत्त्साहित होती है उसी तरह इस दिन महिलाओ के चेहरे पर एक अलग सी ही चमक होती है। पूरे सोलह श्रृंगार किए हुए महिलाएं इस दिन करवा माता से अपने पति की उम्र लम्बी होने और उनके शसदिशुदा जीवन में खुशहाल रहने की मनोकामना करती है। यह दिन सूर्योदय से पहले सरगी खाकर शुरू होता है, और फिर महिलाएं शाम को करवाचौथ की कथा सुनती है।

उसके बाद महिलाओ को चाँद के निकलने का इंतज़ार रहता है, क्योंकि सुबह से प्यासी होने के साथ इस पूजा के समय अपने पति से मिलने वाले प्यार भरे उपहार का भी महिलाएं इंतज़ार कर रही होती है। हर साल इस त्यौहार को कई कुँवारी लडकियां भी अच्छे जीवनसाथी के मिलने की चाह में रखती हैं। वैसे तो यह पूरे भारत में ही मनाया जाता है लेकिन उत्तर भारत में इसका अलग ही रूप देखने को मिलता है।

करवाचौथ 2018 कब है?:-

इस साल करवाचौथ 27 अक्टूबर 2018 को शनिवार के दिन है।

करवाचौथ 2018 पूजा का समय:-

करवाचौथ पूजन का शुभ मुहूर्त 2018 में शाम के समय 05:40 से 06:47 तक का है और मुहूर्त की अवधि 1 घंटा 07 मिनट की है।

करवाचौथ 2018 चाँद निकलने का समय:-

इस वर्ष करवाचौथ पर चाँद निकलने का समय रात के 08: 00 बजे का है।

क्यों मनाया जाता है करवाचौथ:-

करवाचौथ का यह दिन महिलाओ के जीवन में एक अलग ही स्थान रखता है। क्योंकि इस दिन को पति पत्नी के प्रेम का प्रतिक भी कहा जाता है। इस दिन महिलाएं अपने पति के लिए पूरा दिन पूरी श्रद्धा से उपवास रखती है, की ऐसा करने से उनके पति की उम्र लम्बी हो, और उनके बीच का प्यार हमेशा बना रहे।