Business is booming.

Holi 2019 : होली कब है 2019? होलिका दहन पूजा का मुहूर्त

0 845

Holi 2019, Holi date 2019, होली कब है 2019, होलिका दहन का समय मुहूर्त, होली पूजा का समय, Holika Dahan Muhurat, Holi Puja 2019, Holi Tithi, होली पर्व डेट, होली 2019 में कितनी तारीख को है, होलिका दहन मुहूर्त, होलिका कब जलेगी, होलिका दहन का शुभ समय, Holi Pujan Muhurat


होली 2019 डेट और पूजा मुहूर्त

फाल्गुन विक्रम संवत का अंतिम चंद्रमास होता है। इस माह में कई बड़े-छोटे हिन्दू पर्व मनाए जाते हैं। इन्ही में से एक है होली जो साल के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है। होली को केवल भारत में ही नहीं बल्कि दूर देशों में भी बड़े हर्ष और उत्साह के साथ मनाया जाता है। क्या बच्चे और क्या बड़े सभी इस पर्व का खूब आनंद उठाते हैं। सांस्कृतिक महत्व होने के साथ-साथ इस पर्व का धार्मिक महत्व भी होता है।

होली कब मनाते हैं?

हिन्दू पंचांग के अनुसार, फाल्गुन माह की पूर्णिमा को होली मनाई जाती है। होली को वसंतोतव के रूप में भी मनाया जाता है। फाल्गुन पूर्णिमा को होलिका दहन किया जाता है। रंगवाली होली (धुलेंडी) पूर्णिमा के अगले दिन चैत्र कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा को मनाई जाती है। पूर्णिमा की होली को होलिका दहन और छोटी होली भी कहा जाता है।

होलिका दहन

रंगवाली होली से एक दिन पहले छोटी होली को होलिका दहन किया जाता है। यह पर्व हिरण्यकश्यप के पुत्र प्रह्लाद की नारायण भक्ति को समर्पित है। माना जाता है एक समय अपने पुत्र की नारायण भक्ति से व्यथित हिरण्यकश्यप जो खुद को भगवान समझता था उसने अपनी बहन होलिका को आदेश दिया की होलिका भक्त प्रह्लाद को गोद में लेकर जलती अग्नि में बैठ जाए। होलिका को यह वरदान था की अग्नि से वह जलेगी नहीं। इसी वरदान का लाभ उठाकर होलिका प्रह्लाद को लेकर जलती अग्नि में बैठ गयी।

नारायण की कृपा से होलिका की गोद में बैठे प्रह्लाद को एक खरोंच भी नहीं आई और होलिका जलकर राख हो गयी। जिस यह सब हुआ वह फाल्गुन पूर्णिमा थी। उसी दिन से होलिका दहन की परंपरा बन गयी। होलिका दहन को सत्य और अच्छा की जीत के रूप में भी मनाया जाता है।

रंगवाली होली (धुलेंडी)

छोटी होली के अगले दिन रंगवाली होली खेली जाती है। रंगवाली होली को भगवान श्री राधा-कृष्ण के पवित्र प्रेम की याद में भी मनाया जाता है। एक पौराणिक कथा के अनुसार – एक बार श्री कृष्ण जी ने माँ यशोधा से पूछा की वे इतने काले क्यों हैं और राधा की तरह गोरे क्यों नहीं? तब माँ यशोदा ने यूँ ही कान्हा से कह दिया की राधा के चेहरे पर रंग मलने से राधा का रंग भी कन्हैया के समान हो जाएगा। उसके बाद श्री कृष्ण ने राधा और अन्य गोपियों के साथ होली खेली और तभी से इस पर्व को रंगों का त्यौहार कहा जाने लगा।


Holi 2019 Date

2019 में रंगवाली होली (धुलेंडी) 21 मार्च 2019 गुरुवार को है।

होलिका दहन 2019 डेट

2019 में होलिका दहन, 20 मार्च 2019, बुधवार को है। 

Holika Dahan Muhurat

2019 में होलिका दहन का शुभ मुहूर्त = 20:58 से 24:23 तक

होलिका दहन भद्रा विचार 

भद्रा पूंछ = 17:34 से 18:35
भद्रा मुख = 18:35 से 20:17

होलिका दहन के नियम 

शास्त्रों के अनुसार, होलिका दहन के समय निम्न तीन नियमों का पालन करना आवश्यक होता है –

1. फाल्गुन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा
2. रात का समय
3. भद्रा बीत चुकी हो।

होलाष्टक 2019

हिन्दू पंचांग कैलेंडर के अनुसार, 14 मार्च 2019, गुरुवार से होलाष्टक प्रारंभ हो जाएगा। 

पूर्णिमा तिथि का समय 

पूर्णिमा तिथि आरंभ = 20 मार्च 2019, बुधवार सुबह 10:44 बजे।
पूर्णिमा तिथि समाप्त = 21 मार्च 2019, गुरुवार सुबह 07:12 बजे।