Business is booming.

अमावस्या जुलाई 2018, अमावस्या की तारीख

0 466

Ashada Amavasya July 2018 : अमावस्या हिन्दू कैलेंडर के महीने का 15 वां दिन होता है। जिसमे चंद्रमा पूरी तरह से अदृश्य हो जाता है। पूर्णिमा के पश्चात् कृष्ण पक्ष का प्रारंभ होता है जिसका समापन अमावस्या के दिन होता है। अमावस्या के बाद शुक्ल पक्ष का प्रारंभ होता है जिसमें चंद्रमा धीरे-धीरे अपने आकार में वापस आता है और जब वह पूरी तरह गोल हो जाता है उस दिन को पूर्णिमा कहा जाता है। उसके पश्चात् पुनः यही चक्र प्रारंभ हो जाता है।

अमावस्या जुलाई 2018

Ashada Amavasya 2018 : जुलाई 2018 की अमावस्या आषाढ़ी अमावस्या, निज ज्येष्ठ अमावस्या है। उत्तरी भारत के हिंदी कैलेंडर के अनुसार इसे आषाढ़ी अमावस्या कहा जाता है। जबकि अमावस्यांत पञ्चाङ्गम के अनुसार इसे निज ज्येष्ठ अमावस्या कहा जाता है। यह हिंदी कैलेंडर महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में माना जाता है।

आषाढ़ अमावस्या (Ashada Amavasya) तिथि और समय :

जुलाई अमावस्या 2018 – 13 जुलाई 2018, शुक्रवार 

13 जुलाई 2018 अमावस्या तिथि का आरंभ – 12:01 PM (12 जुलाई 2018)
आषाढ़ अमावस्या समापत – 08:17 AM (13 जुलाई 2018)

जुलाई में अमावस्या तिथि क्यों खास है?

July Ashada Amavasya : जुलाई २०१८ में अमावस्या तिथि 12 और 13 जुलाई यानी दो दिन तक रहेगी। इस अमावस्या में जो भी जातक पितृकर्म करना चाहते है, उन्हें 12 जुलाई को ही पितृकर्म पूर्ण करवा लेना चाहिए। क्योंकि 13 जुलाई को सूर्योदय के समय अमावस्या तिथि रहेगी परन्तु दिन होने तक वह समाप्त हो जाएगी और प्रतिपदा लग जाएगी। जबकि पितृकर्म का सही समय 12 बजे के आस पास का माना जाता है। और अमावस्या तिथि का आरम्भ 12 जुलाई को 12 बजकर 01 मिनट से हो रहा है जिसके पश्चात् पितृकर्म किये जा सकते हैं।

जुलाई की अमावस्या को 2018 का दूसरा सूर्य ग्रहण :

आषाढ़ माह यानी जुलाई महीने की अमावस्या को साल का दूसरा सूर्य ग्रहण लगने वाला है। हालाँकि यह ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा इसलिए इसका कोई प्रभाव भी भारतीयों पर नहीं होगा। इसी कारण अभी तक इस ग्रहण का कोई सूतक काल आदि नहीं बताया गया है। – Ashada Amavasya surya grahan

जुलाई 2018 सूर्य ग्रहण की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें : सूर्य ग्रहण जुलाई 2018