Business is booming.

अक्षय तृतीया 2018 मुहूर्त, सोना खरीदने का शुभ समय, आखातीज कब है 2018

आखातीज कब है 2018, अक्षय तृतीया के टोटके, अक्षय तृतीया सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त, akshaya tritiya 2018, अक्षय तृतीया 18 अप्रैल 2018, अक्षय तृतीया कब है, akshaya tritiya 2018 in hindi, Akha Teej muhurat 2018, अक्षय तृतीया 2018 मुहूर्त, अक्षय तृतीया का महत्व, आखातीज 2018 Date, akshaya tritiya 2018 date and time, akshaya tritiya 2018 date and day

0 530

अक्षय तृतीया जिसे आखा तीज भी कहा जाता है, हिन्दू धर्म के महत्वपूर्ण पर्वों में से एक है। यह पर्व वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाता है। माना जाता है इस किये किया जाने वाले हर काम का शुभ और अच्छा फल प्राप्त होता है। इसलिए अक्षय तृतीया के दिन अनेकों शुभ कार्य किये जाते है। वैसे तो साल के सभी बारह महीनों के शुक्ल पक्ष की तृतीया को शुभ माना जाता है परंतु सभी में वैशाख माह की तृतीया को सबसे अधिक पुण्यकारी माना जाता है।

अक्षय तृतीया का महत्व :-

हिन्दू धर्म के अनुसार सर्व सिद्ध मुहूर्त के रूप में भी अक्षय तृतीया का बहुत अधिक महत्व है। मान्यता है इस दिन बिना मुहूर्त और पंचांग देखे घर में किसी भी प्रकार के मांगलिक कार्य किये जा सकते है। पुराणों के अनुसार इस दिन पित्रों का तर्पण, पिंडदान और किसी भी तरह का दान करने से शुभ फल प्राप्त होता है। अक्षय तृतीया के दिन गंगा स्नान करने से सभी पाप दूर हो जाते है।

माना जाता है, अगर अक्षय तृतीया सोमवार के दिन रोहिणी नक्षत्र में आए तो इस दिन किये गए सभी दान-पुण्य के कार्यों का फल और अधिक बढ़ जाता है। इस दिन भगवान विष्णु व् देवी लक्ष्मी के पूजन का खास विधान है।

अक्षय तृतीया की परंपराए :

हिन्दू पंचांग में इस दिन को अत्यंत शुभ माना जाता है इसलिए इस दिन किसी भी कार्य को करने के लिए शुभ मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं होती। वैसे तो यह पर्व सभी के लिए लाभकारी होता है लेकिन हर कोई इसे अपने रीती रिवाजों के अनुसार मनाता है। यहाँ हम आपको अक्षय तृतीया के दिन की जाने वाले विभिन्न परंपराओं की सूची दे रहे है।

  • इस दिन भगवान विष्णु के लिए पुरे दिन उपवास रखा जाता है।
  • अक्षय तृतीया के दिन भगवान विष्णु के श्री लक्ष्मी नारायण स्वरुप का पूजन किया जाता है।
  • इस दिन सोना खरीदना बहुत अधिक शुभ माना जाता है।
  • गृह-प्रवेश और शादी विवाह के लिए भी इस दिन को अत्यंत शुभ माना जाता है।
  • इस दिन नया वाहन खरीदना अच्छा होता है।
  • गंगा व् एनी पवित्र नदियों में स्नान करना लाभकारी होता है।
  • पितरों का तर्पण करने से शुभ फल प्राप्त होता है।
  • इस दिन ब्राह्मणों और जरुरतमंदों को दान करने से पुण्य मिलता है।
  • अक्षय तृतीया के दिन हवन, मंत्र जप आदि करना भी खास फलदायी माना जाता है।

अक्षय तृतीया 2018 शुभ मुहूर्त

2018 में अक्षय तृतीया 18 अप्रैल 2018, बुधवार के दिन मनाई जाएगी।

अक्षय तृतीया में लक्ष्मीनारायण पूजन का शुभ समय

पूजन का शुभ मुहूर्त = 05:56 से 12:20 तक।
मुहूर्त की अवधि = 6 घंटा 23 मिनट

तृतीया तिथि का प्रारंभ 18 अप्रैल 2018, बुधवार प्रातः 03:45 पर होगा। जिसका समापन 19 अप्रैल, गुरुवार मध्यरात्रि 01:29 पर होगा।

अक्षय तृतीया में सोना खरीदने का शुभ समय

17 अप्रैल 2018, मंगलवार = 27:45+ से 29:56+ तक
18 अप्रैल 2018, बुधवार = 05:56 से 25:29+ तक

05:56 से 25:29+ तक के मध्य चौघड़िया मुहूर्त

प्रातः मुहूर्त (लाभ, अमृत) = 05:57 – 09:09
प्रातः मुहूर्त (शुभ) = 10:45 – 12:21
दोपहर मुहूर्त (चर, लाभ) = 15:33 – 18:45
सायं मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) = 20:08 – 24:20+

(नोट : यहाँ समय IST 24 hrs. के हिसाब से लिखा गया है।)